Bhiwadi GST Department पर एक स्टील व्यापारी के ट्रक को जबरन जब्त करने का आरोप लगा

bhiwadi gst department seize steel trader's truck

भिवाड़ी: सुमित राठी, शंकर स्टील सप्लायर्स, अपना विवाद दर्ज कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज Bhiwadi GST department ने उनके साथ अन्याय किया। उनके 9 ton माल से भर ट्रक को जब्त कर लिया। ट्रक में 9020 और 12080 किलो के दो अलग-अलग वजन के सामान थे, जिसका कुल वजन 21100 किलो हो गया। भिवाड़ी में, उन्होंने लक्ष्मी धर्म कांटा के पास जाकर 12080 किलो का सामान उतार दिया था, जिसके बाद उनकी ट्रक में केवल 9 टन का सामान बचा था।

जीएसटी डिपार्टमेंट से एक मैडम ने ट्रक को रोककर कहा कि सिर्फ 9 टन का सामान ही है और बाकी का सामान झूठी बिलिंग है। और वो गाडी को मैटेरियल के साथ ऑफिस ले गयी, सुमित राठी ने अपने गोदाम की वीडियो और क्लिप भी प्रस्तुत किए, जिसमें उन्होंने साफ दिखाया कि 12080 किलो का सामान उतार दिया गया था।

उन्होंने कहा कि आज गुंडागर्दी उनके साथ हो रही है, और कल भी यह किसी के साथ हो सकती है। उन्होंने आग्रह किया कि जो भी सही है, वही समर्थन दें। उन्हें उम्मीद है कि लोग सचाई के साथ खड़े रहेंगे और उनकी मदद करेंगे।

यह भी पढ़े: भिवाड़ी ने राजस्व में 230 करोड़ की राशि एसजीएसटी और वैट से जमा कराई

सुमित राठी, शंकर स्टील सप्लायर्स, ने अपनी चिंता को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि जीएसटी डिपार्टमेंट के कर्मचारियों ने उनके साथ निर्दयता से व्यवहार किया। उन्हें प्रतिबंधित कर दिया गया था, जिससे उनका सारा कारोबार प्रभावित हुआ। इसके बाद, उन्होंने लोगों को समझाया कि वह गलती में नहीं हैं, और उन्हें सही न्याय चाहिए।

See also  Bhiwadi: जाने भिवाड़ी की स्थापना कैसे हुई

उन्होंने बताया कि इस घटना ने उन्हें काफी नुकसान पहुंचाया है। उनका व्यवसाय अचानक रुक गया और उन्हें विपत्ति का सामना करना पड़ा। उन्होंने उचित न्याय के लिए सरकारी अधिकारियों से मदद मांगी, लेकिन कोई भी सहायता नहीं मिली।

इसके बाद, उन्होंने समाज की सहायता मांगी। स्थानीय लोगों को आकर्षित किया और उनसे अपनी समस्या साझा की। लोगों ने उनके साथ खड़ा होकर उन्हें समर्थन दिया और उनके साथ न्याय के लिए लड़ने का आश्वासन दिया।

उन्होंने सोशल मीडिया पर भी अपनी कहानी साझा की और लोगों को इस घटना के बारे में बताया। उनके पोस्ट वायरल हो गए और लोगों ने उन्हें समर्थन और सलाह दी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *