भिवाड़ी में सेफ्टी टैंक खोदते समय, दो मज़दूरों की मिटटी ढहने से मौत, जिनमे से एक 5 माह की गर्भवती

bhiwadi news, two workkers found dead in a safety tank

भिवाड़ी के कहरानी औद्योगिक क्षेत्र में संचालित निजी कंपनी में सेफ्टी टैंक बनाते समय मिट्टी में दबने से एक महिला मजदूर सहित दो लोगों की मौत हो गई. हादसे के वक्त दोनों करीब 10 फीट गहरे गड्ढे में सेफ्टी टैंक का काम करने के लिए उतरे थे.

अचानक मिट्टी धंसने के कारण दोनों मजदूर मिट्टी के अंदर दब गए. करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद दोनों मजदूरों को बाहर निकाल कर जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां पर जांच के बाद डॉक्टर ने दोनों को मृत घोषित कर दिया.

थाना प्रभारी वीरेंद्र पाल ने बताया की एमपी के रहने वाले रामकिशन और वंदना एक निजी कंपनी में सेफ्टी टैंक के लिए गड्ढा खोदने का काम कर रहे थे. मिट्टी धंसने से दोनों ही गड्ढे में दब गए. दोनों को बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक दोनों की दम घुटने से मौत हो चुकी थी.

Also Read: भिवाड़ी पुलिस की गुंडागर्दी: पार्षद की शिकायत लेकर थाने पहुंची महिला को हेड कॉन्स्टेबल ने जड़ा थप्पड़, बाल पकड़ कर खींचे

उन्होंने बताया कि फिलहाल दोनों शवों को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है और परिजनों को सूचना दे दी गई है. पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा. थाना प्रभारी के अनुसार मृतक मिस्त्री रामकिशन के दो छोटे बच्चे हैं. वहीं, मृतक वंदना करीब 5 महीने की गर्भवती थी.

मजदूरों ने निकाला दोनों को बाहर

हादसे के बाद कंपनी में हड़कंप मच गया और वहां मौजूद अन्य मजदूरों ने दोनों को निकालने के लिए तुरंत बचाव कार्य शुरू कर दिया. करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकाल लिया गया, लेकिन तब तक दम घुटने से दोनों मजदूरों की मौत हो गई.

See also  सड़क दुर्घटना में मौत पर 10 लाख रुपए का जुर्माना नहीं: भिवाड़ी के लोगों को समझाया गया

[Source]

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *